Woman got alive

मध्यप्रदेश के छतरपुर जिले में एक बच्ची को जन्म देने के बाद अस्पताल में मां को मृत घोषित कर दिया गया। परिजन बॉडी घर ले आए और अंतिम संस्कार की तैयारियां शुरू कर दीं। जैसे ही शव को अर्थी पर लिटाया गया तभी बॉडी में हरकत हुई।

अस्पताल में महिला को डाक्टरों ने मृत घोषित कर दिया

घर वाले उसे फिर से एंबुलेंस में लेकर छतरपुर जिला अस्पताल भागे, लेकिन रास्ते में ही एम्बुलेंस में लगे सिलेंडर की आक्सीजन खत्म हो गई। इससे महिला की हालत खराब हुई और अस्पताल पहुंचने से पहले ही उसकी मौत हो गई। डर के मारे एम्बुलेंस चालक महिला को स्ट्रेचर पर उतारकर एम्बुलेंस लेकर भाग खड़ा हुआ। जिला अस्पताल में एक बार फिर महिला को डाक्टरों ने मृत घोषित कर दिया।

आग से सेंका तो उसकी सांस लौट आई

बता दे की छतरपुर जिले के वार्ड नंबर 12 की कुसमा निवासी अरविंद अहिरवार की 28 वर्षीय पत्नी भागवती को शुक्रवार दोपहर 12 बजे डिलिवरी के लिए भर्ती कराया गया। दोपहर करीब एक बजे उसने स्वास्थ्य बच्ची को जन्म दिया। डिलिवरी के कुछ घंटों बाद शाम करीब 5 बजे भागवती की सांस बंद हो गई। तो परिजन उसे लेकर घर चले गए। चूंकि उसके शरीर में थोड़ी गर्मी बाकी थी,इसलिए महिलाओं ने शरीर की मालिश की और आग से सेंका तो उसकी सांस लौट आई थी।

http://www.newswithtea.com/wp-content/uploads/2018/01/Woman-got-alive.jpghttp://www.newswithtea.com/wp-content/uploads/2018/01/Woman-got-alive-150x150.jpgPuja BhardwajUncategorizedMadhya Pradesh,Woman got aliveमध्यप्रदेश के छतरपुर जिले में एक बच्ची को जन्म देने के बाद अस्पताल में मां को मृत घोषित कर दिया गया। परिजन बॉडी घर ले आए और अंतिम संस्कार की तैयारियां शुरू कर दीं। जैसे ही शव को अर्थी पर लिटाया गया तभी बॉडी में हरकत हुई। अस्पताल में महिला...News Updates