Justice of Supreme Court

एक अजीब वाक्या सामने आया है सुप्रीम कोर्ट के चार जजों ने प्रेस कांन्फ्रेंस कर आरोप लगाया कि सुप्रीम कोर्ट में सब कुछ ठीक नहीं है। उन्होंने यह भी अगाह किया कि अगर जल्द ही इस पर ध्यान नहीं दिया गया तो लोकतंत्र खतरे में पड़ सकता है। बता दे की देश के इतिहास में पहली बार ऐसा हुआ है कि जजों ने इस तरह से मीडिया में आकर बयान दिया है। आम तौर पर न्यायाधीश रिटायर होने के बाद भी सार्वजनिक बयानों से बचते रहे हैं।

 

जजों ने कहा मीडिया ब्रीफिंग करना थी मज़बूरी

इन चारों जजों में सुप्रीम कोर्ट के चीफ जस्टिस दीपक मिश्रा के बाद वरिष्ठतम न्यायाधीश जस्टिस जे. चेलामेश्‍वर, जस्टिस रंजन गोगोई, जस्टिस मदन लोकुर और जस्टिस कुरियन जोसेफ शामिल हैं। इनका कहना था कि ये मीडिया ब्रीफिंग मजबूर होकर कर रहे हैं।यह प्रेस कॉन्‍फ्रेंस इसलिए की, ताकि कोई यह न कह सके कि आत्मा को बेच दिया है।

जे. चेलामेश्‍वरमुख्य न्यायाधीश के बाद सबसे वरिष्ठ जस्टिस

जस्टिस जे. चेलामेश्‍वरमुख्य न्यायाधीश जस्टिस दीपक मिश्रा के बाद सुप्रीम कोर्ट में सबसे वरिष्ठ जस्टिस हैं।10 अक्टूबर 2011 से सुप्रीम कोर्ट में हैं और इसी साल जून में रिटायर हो जाएंगे।जस्टिस रंजन गगोई देश के अगले मुख्य न्यायाधीश होंगे। जस्टिस मदन लोकुरसाल 2012 में सुप्रीम कोर्ट में जज बने और इस साल दिसंबर में रिटायर हो जाएंगे। जस्टिस कुरियन जोसेफ साल 2013 में सुप्रीम कोर्ट में जज बने|

http://www.newswithtea.com/wp-content/uploads/2018/01/Justice-of-Supreme-Court.jpghttp://www.newswithtea.com/wp-content/uploads/2018/01/Justice-of-Supreme-Court-150x150.jpgPuja BhardwajInformationDemocratic,Supreme Courtएक अजीब वाक्या सामने आया है सुप्रीम कोर्ट के चार जजों ने प्रेस कांन्फ्रेंस कर आरोप लगाया कि सुप्रीम कोर्ट में सब कुछ ठीक नहीं है। उन्होंने यह भी अगाह किया कि अगर जल्द ही इस पर ध्यान नहीं दिया गया तो लोकतंत्र खतरे में पड़ सकता है। बता...News Updates